MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

प्रतिभा-2016 में हुआ साहित्यिक प्रतियोगिताओं का आयोजन

कार्यक्रम के दूसरे निबंध लेखन, फीचर लेखन, स्टोरी बोर्ड, क्विज़ प्रतियोगिताएं हुई आयोजित

नोएडा, 13 मार्च, 2016 : माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय नोएडा परिसर के वार्षिक सांस्कृतिक एवं खेलकूद आयोजन ‘प्रतिभा-2016’ के दूसरे दिन साहित्यिक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दुसरे दिन निबंध लेखन, फीचर लेखन, स्टोरी बोर्ड, क्विज़ प्रतियोगिताएं आयोजित हुई।

निबंध लेखन प्रतियोगिता का शीर्षक ‘राष्ट्रवाद’ रहा। जिसमें प्रतिभागियों ने अपने मेधा और कौशल का परिचय देते हुए राष्ट्रवाद को परिभाषित किया और उसके विभिन्न आयामों पर लिखा।

 फीचर लेखन प्रतियोगिता का विषय ‘ऐतिहासिक स्थल’ रहा। जिसमें प्रतिभागियों ने विभिन्न ‘ऐतिहासिक स्थलों के महत्त्व को रचनात्मकता के साथ प्रस्तुत किया।

स्टोरी बोर्ड प्रतियोगिता का विषय ‘गोरैया संरक्षण’ रखा गया। जिसमें विद्यार्थियों ने अपने सृजनात्मक विचारों को उखेरा।

क्विज़ प्रतियोगिता में भी विद्यार्थियों का उत्साह कायम रहा। क्विज़ प्रतियोगिता में समसामयिक, राजनैतिक, विज्ञान, खेल, इतिहास, मीडिया आदि विषयों के प्रश्‍न पूछे गए। विभिन्न पाठयक्रमों के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

शनिवार को शुरू हुए आयोजन का उद्घाटन वरिष्ठ पत्रकार नीरेंद्र नागर ने किया। उद्घाटन अवसर पर नागर ने कहा कि सिर्फ तिरंगा लहराना देशभक्ति नहीं है, संविधान का सम्मान करना और देष के कानून को मानना ही देशभक्ति है। युवाओं की जिम्मेवारी है कि वे बेड़ियां तोडकर रचनात्मक काम करें। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय नोएडा परिसर के वार्षिक आयोजन ‘प्र्रतिभा 2016’ के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए नीरेंद्र नागर ने कहा कि हमें गहराई से सत्यता की जांच कर ही कुछ लिखना चाहिए। उनका कहना था कि जीवन के हर क्षेत्र में अनुषासन जरुरी है।

हफ्ते भर तक चलने वाले इस कार्यक्रम के पहले दिन रंगोली, कोलॉज, कार्टून, पीपीटी और फोटोग्राफी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। रंगोली प्रतियोगिता की थीम ‘लोक’  रही। रंगोली में रंगों का बेहतरीन प्रयोग विद्यार्थियों ने कर लोक-व्यवहार में प्रचलित विधाओं को जीवंत कर दिया। पीपीटी का विषय ‘स्वच्छ भारत अभियान’ रहा। जिसमें विद्यार्थियों ने  रचनात्मकता और प्रौद्योगिकी पर अपनी पकड़ को साबित किया। कोलॉज प्रतियोगिता की विषयवस्तु ‘प्रकृति‘ रही। जिसमें प्रतिभागियों ने अपनी कला को माध्यम बनाते हुए प्रकृति के पास रहने का संदेश दिया और बताया कि कैसे हम प्रकृति का दोहन कर रहे हैं। साथ ही पर्यावरण संरक्षण के रास्ते भी सुझाए। फोटोग्राफी की थीम ‘बिटिया’ रही। जिसमें विद्यार्थियों ने साबित किया कि एक तस्वीर हज़ार शब्दों के बराबर होती है। कार्टून प्रतियोगिता में प्रतिभाग करते हुए साबित किया कि कार्टून अभिव्यक्ति के सशक्त माध्यम होते हैं। कार्टून के प्रतिभागियों ने हुनर का परिचय देते हुए कई विसंगतियों पर प्रहार किया और सामाजिक और समसामयिक मुद्दों पर प्रकाश डाला।

 आयोजित प्रतियोगिताओं में निर्णायक के रूप में पत्रकार बबीता पंत एवं मनोज राय रहे। आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना के साथ हुआ। कार्यक्रम के पहले दिन डॉ. अरुण भगत, डॉ.  बीएस निगम लालबहादुर ओझा, सूर्य प्रकाष, राकेश योगी, रंजीत कुमार, रामशंकर पाल, वृजेंद्र वर्मा, रजनी मुद्गल, अंजना शर्मा, निक्की तिवारी, विजय आनंद, षिवदत्त शर्मा सहित परिसर के सभी विद्यार्थी और कर्मचारी उपस्थित रहे। मंच का संचालन दीपाक्षी और अंजली ने किया। पहले दिन से ही विद्यार्थी इस कार्यक्रम के लिए काफी उत्साहित हैं। कार्यक्रम में अभिजात, अभिषेक, प्रभाकर, प्रभांशु, शुभम, रवि, राहुल, मुकेश, शावली, दीप्ति, कादिम्बिनि, अभिलाषा, शिप्रा, आदि ने सहयोग किया।

आज की प्रतियोगिताएं - तात्कालिक भाषण, वाद-विवाद और काव्य पाठ।