MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

शोध को बढ़ावा देने के लिए पत्रकारिता विश्वविद्यालय और प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानम के बीच एमओयू

पत्रकारिता विश्वविद्यालय के शोध केंद्र के रूप में कार्य करेगा प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानम, नई दिल्ली

भोपाल, 11 अगस्त 2016 : माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल और डॉ. गोस्वामी गिरधारी लाल शास्त्री प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानम, नईदिल्ली के बीच शोध कार्य के क्षेत्र को विस्तार देने के लिए संस्थागत सहयोग सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए हैं। एमओयू के अनुसार प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानम, नईदिल्ली में विश्वविद्यालय के शोध केंद्र के रूप में कार्य करेगा।

      संस्थागत सहमति पत्र के मुताबिक डॉ. गोस्वामी गिरधारी लाल शास्त्री प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानम, नईदिल्ली विशेषकर संस्कृत और प्राच्य ज्ञान की संचार परंपरा के क्षेत्र में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के शोध केंद्र के रूप में कार्य करेगा। प्रतिष्ठानम दिल्ली राज्य सरकार की पंजीकृत संस्था है और यह शोध के क्षेत्र में कार्यरत है। विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला की उपस्थिति में कुलाधिसचिव लाजपत आहूजा और प्रतिष्ठानम के निदेशक जीतराम भट्ट ने इस एमओयू पर हस्ताक्षर किए। विश्वविद्यालय की शोध परियोजना 'संवाद की भारतीय परंपरा' के अंतर्गत प्रतिष्ठानम के साथ यह एमओयू किया गया है। इस शोध केंद्र के विकसित होने से प्राच्य भारतीय ज्ञान में संचार पर केंद्रित शोधकार्य को बढ़ावा मिल सकेगा। प्राच्य भारतीय ज्ञान में संचार के क्षेत्र में अनुसंधान करने वाले शोधार्थी इस शोध केन्द्र से शोध उपाधि (पीएचडी) भी प्राप्त कर सकेंगे। पीएचडी के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और पत्रकारिता विश्वविद्यालय के नियम लागू होंगे। गौरतलब है कि वर्तमान समय में भारतीय ज्ञान परंपरा में शोधकार्य की महती आवश्यकता है।