MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

देश के वर्तमान परिवेश में शांति की आवश्‍यकता अधिक : श्री आहूजा

प्रतिस्‍पर्धा से नहीं मिलती शांति : श्री शर्मा

एमसीयू में यूथ पीस फाउंडेशन द्वारा ‘टॉक फॉर पीस’ का आयोजन

भोपाल : 24 सितम्‍बर, 2016 :  माखनलाल चतुर्वेदी राष्‍ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय में आज अतंरराष्‍ट्रीय शांति दिवस को लेकर ‘टॉक फॉर पीस’ का आयोजन किया गया। विश्‍वविद्यालय और यूथ पीस फांउडेशन के संयुक्‍त तत्‍वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलाधिसचिव श्री लाजपत आहूजा ने कहा कि आज देश में जिस तरह का वातावरण निर्मित हो रहा है, उसमें शांति की आवश्‍यकता अधिक महसूस होती है। शांति का संदेश सही तरीके से और सही जगह पहुंचना चाहिए। सुनने और मन की शांति के बीच के संबंध को लेकर उन्‍होंने कहा कि हम समझने के लिए सुनना नहीं चाहते, बल्कि केवल जवाब देने के लिए सुनते है।

इस अवसर पर कुलसचिव श्री दीपक शर्मा ने कहा कि विषय के महत्‍व हो दृष्टिगत रखते हुए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। शांति अद्भूत चीज है और इसे पाना भी आसान है। लेकिन वर्तमान परिवेश में इसे पाने के तरीके कठिन लगते है। समाज में ऐसे मापदंड स्‍थापित हो गए है जिससे हम अशांत रहते है। वर्तमान प्रतिस्‍पर्धा का उल्‍लेख करते हुए उन्‍होंने कहा कि हमे ‘पैराडाइम शिफ्ट’ करना पड़ेगा। जीवन के उद्देश्‍य परिवर्तित  करने पड़ेगे । प्रतिस्‍पर्धा की जगह जीवन मूल्‍यों की स्‍थापना को महत्‍व देना होगा। भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जो विश्‍व को शांति का संदेश दे सकता है।

कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि और यूडीप वेलफेयर सोसायटी की लीडर सुश्री पूनम श्रोती ने कहा कि हम जो दिल से करना चाहते है , अगर वह करे तब शांति मिलती है। शांति पर चर्चा करने के साथ हमें उसके सूत्रों को जीवन में  भी अपनाना चाहिए। बिग एफएम की आरजे सुश्री अनादि ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर ‘टॉक फॉर पीस’ के विजेता अजय दुबे, शगुफ्ता अहमद और शुभम द्विवेदी को  सम्‍मानित किया गया। विज्ञापन एवं जनसम्‍पर्क विभागाध्‍यक्ष डॉ. पवित्र श्रीवास्‍तव ओर मीडिया प्रबंधन विभागाध्‍यक्ष डॉ. अविनाश बाजपेयी ने अतिथियों का स्‍वागत किया।  यूथ फांउडेशन के स्‍वयंसेवकों ने शॉर्ट फिल्‍मों के माध्‍यम से जीवन में शांति के महत्‍व को बताया। अंत में शांतिदूत श्री प्रेम रावत के संबोधन की फिल्‍म प्रदर्शित की गई। सुश्री निधि चौहान ने कार्यक्रम का संचालन किया।