MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

भारतीय ज्ञान-परंपरा पर राष्ट्रीय संविमर्श 'ज्ञान-संगमआज से

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय का दो दिवसीय आयोजनउच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैयापद्मश्री डॉ. नरेन्द्र कोहलीश्री जे. नंदकुमार करेंगे उद्घाटन

भोपाल, 06 दिसंबर, 2017: माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ओर से भारतीय ज्ञान परंपरा एवं भारतीय जीवनदृष्टि पर केंद्रित दो दिवसीय राष्ट्रीय संविमर्श 'ज्ञान संगम' का आयोजन किया जा रहा है। संविमर्श में मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के लगभग 250 शिक्षक आएंगे,जो अपने विषयों में भारतीय दृष्टिकोण के समावेश, अनुसंधान, भारत के प्राचीन एवं आधुनिक विद्वानों के दर्शन एवं सिद्धांत को पाठ्यक्रम में शामिल करने के संबंध में विचार-मंथन करेंगे। संविमर्श का उद्घाटन 7 दिसंबर को प्रात: 11 बजे उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया, प्रख्यात साहित्यकार पद्मश्री डॉ. नरेन्द्र कोहली, विचारक श्री जे. नंदकुमार एवं कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला करेंगे। संपूर्ण आयोजन आरसीवीपी नरोन्हा प्रशासन अकादमी के स्वर्ण जयंती सभागार में होगा।

            राष्ट्रीय संविमर्श 'ज्ञान संगम' में 'भारतीय जीवन दृष्टि : वर्तमान संदर्भ में व्याख्या' पर व्यापक विमर्श होने वाला है। इस दो दिवसीय बौद्धिक आयोजन में 7 दिसंबर को उद्घाटन सत्र में 'जीवन की भारतीय दृष्टि' विषय पर प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक श्री जे. नंदकुमार का मुख्य वक्तव्य होगा। इसके बाद 'संस्कार, ज्ञान एवं विद्या की भारतीय दृष्टि' विषय पर प्रख्यात शिक्षाविद सुश्री इंदुमति काटदरे अपने विचार रखेंगी। इस सत्र की अध्यक्षता राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अध्यक्ष श्री बल्देव भाई शर्मा करेंगे। तृतीय सत्र में 'सुख एवं आनंद की भारतीय दृष्टि' विषय पर स्वामी धर्मबंधु मुख्य वक्तव्य देंगे और कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री जितेन्द्र बजाज करेंगे। वहीं, 'भारतीय जीवन में विज्ञान' विषय पर प्रख्यात वैज्ञानिक श्री जयंत सहस्त्रबुद्धे प्रस्तुति देंगे और प्रो. शिवेन्द्र कश्यप अध्यक्षता करेंगे। चौथे सत्र में भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री मुकुल कानिटकर'नवीन ज्ञान रचना के लिए भारतीय दृष्टि' विषय पर व्याख्यान देंगे और डॉ. नवीन चंद्रा सत्र की अध्यक्षता करेंगे।

            ज्ञान संगम में दूसरे दिन 8 दिसंबर को 'सामाजिक संवाद की भारतीय दृष्टि (संवाद का स्वराज)' विषय पर मुख्य प्रस्तुति कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला देंगे। इस सत्र में विशिष्ट अतिथि पत्रकार श्री उमेश उपाध्याय होंगे और अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार श्री कैलाश चंद पंत करेंगे। इसके बाद 'कला एवं मनोरंजन की भारतीय दृष्टि' विषय पर प्रो. दीनबंधु पाण्डेय मुख्य वक्तव्य देंगे और अध्यक्षता प्रख्यात उपन्यासकार डॉ. नरेन्द्र कोहली करेंगे। वहीं, 'प्रकृति में सामंजस्य और समन्वयक की भारतीय दृष्टि' विषय पर मुख्य प्रस्तुति प्रो. भगवती प्रसाद शर्मा देंगे और सत्र की अध्यक्षता विचारक एवं चिंतक डॉ. कृष्ण गोपाल करेंगे। इसके साथ ही विभिन्न व्यवसायों में भारतीयता विषय के अंतर्गत स्वस्थ जीवन पर श्री अरुल मोली, धन संपदा के संग्रहण पर श्री बलतेज सिंह मान और राज्य व्यवस्था पर साहित्यकार श्री मनोज श्रीवास्तव मुख्य प्रस्तुति देंगे। इस सत्र की अध्यक्षता अखिल भारतीय साहित्यक परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री श्रीधर पराड़कर करेंगे। कार्यक्रम की सहयोगी संस्थाएं बौद्धिक एवं शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय प्रज्ञा प्रवाह एवं भारतीय शिक्षण मंडल हैं।

            कार्यक्रम का समापन 8 दिसंबर को सांयकाल 5:30 बजे प्रशासनिक अकादमी के स्वर्ण जयंती सभागार में ही होगा। समापन सत्र में मुख्य वक्ता प्रख्यात चिंतक एवं विचारक डॉ. कृष्ण गोपाल और विशिष्ट अतिथि जनसंपर्क एवं जलसंसाधन मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा होंगे।