MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

एक हजार वर्षों की गुलामी में हम ज्ञान से दूर हो गए - स्वामी धर्मबंधु

सत्रारंभ समारोह में 'उदयीमान भारत और युवा' विषय पर सत्र सम्पन्न

भोपाल 28 जुलाई, 2017: वैदिक मिशन ट्रस्ट के प्रमुख स्‍वामी धर्मबंधु ने कहा कि भारत देश हमेशा से ही विशाल देश के रूप में जाना जाता रहा है और यह दुनिया का सबसे बड़ा विकसित और सांस्कृतिक देश रहा है। अमेरिका, ब्रिटेन जैसे देश यहाँ की संस्कृति को तोड़ना चाहते थे लेकिन वे सफल नहीं हो पाए। हमारे देश ने पिछले दो हजार वर्षों में 11 बड़े आक्रमण झेले और आखिरी के पांच आक्रमणों में हम पराजित हुए। लेकिन हमारे देश की संस्कृति पर इसका कोई असर नहीं हुआ।

          स्वामी धर्मबंधु माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के सत्रारंभ समारोह के द्वितीय दिवस पर 'उदयीमान भारत और युवा' विषय पर आयोजित सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हम सैकड़ों वर्षों तक गुलामी में रहे और जब हमें आजादी मिली तो सांस्कृतिक और आर्थिक रूप से खोखले हो चुके थे। आजादी के साथ संविधान, कानून  और एक झंडा साथ ही  30 लाख स्क्वायर क्षेत्र मिला।

          भारतीयों की क्षमता का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि जार्जबुश ने अपने एक संबोधन में अमेरिकन लोगों से कहा था कि भारतीयों से गणित और विज्ञान सीखना चाहिए। भारतीय ईमानदारी और मेहनत से अपने को प्रगति के पथ पर ले जा रहें है। हमारी विकास दर जरुर कम है लेकिन हमनें चीन की तरह लाशों पर बिल्डिंगें नहीं चमकाई। ताइवान और इजरायल का उदहारण देते हुए स्‍वामीजी ने कहा कि ये देश आपने आपको शक्तिशाली बना चुके हैं।