MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

पत्रकार कभी सेवानिवृत्त नहीं होते : श्री अग्रवाल

 

भोपाल, 28 जुलाई, 2017: मुम्‍बई के जाने माने अपराध रिपोर्टर श्री विवेक अग्रवाल ने कहा कि सेना का जवान और कलम के सिपाही अर्थात पत्रकार कभी सेवानिवृत्त (रिटायर्ड) नहीं होते। पत्रकार के लिए कोई निश्‍चित समय सीमा नहीं होती उसको 24 घंटे काम करना पड़ता है। श्री अग्रवाल ने उक्‍त विचार माखनलाल चतुर्वेदी राष्‍ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यलय के सत्राराम्‍भ समारोह के दूसरे दिन 'आतंकवाद, अपराध और पत्रकारिता' विषयक सत्र में व्‍यक्‍त किए।

          उन्‍होंने कहा कि पत्रकार को अराजक लेकिन स्‍वअनुशासित होना चाहिए। उसे आम नागरिक एवं समाज के प्रति जिम्‍मेदार होना चाहिए। आप जो भी खबर लिखें उसकी पूरी तरह से जांच जरूर कर लें। वाट़सएप से मिली खबर पर समाचार न लिखें। पत्रकार का किसी मामले में स्‍वयं का भी विचार होना चाहिए। पत्रकारिता के विषय को लेकर उन्‍होंने कहा कि मीडिया संस्‍थान उन्‍हीं खबरों को देना चाहते हैं जो टीआरपी एवं प्रसार संख्‍या बढ़ाएं। मीडिया मुददों पर लोगों के मन में छवि निर्माण करता है और यह छवि आगे भी बनी रहती है। पूरे विश्‍व में चार विषय - धर्म, वासना, अपराध और मनोरंजन बिकते हैं। भारत में क्रिकेट एक ऐसा विषय है जिस पर खबरें बिकती हैं। उन्‍होंने कहा कि खोजी पत्रकारिता अखबार की जरूरत है।

          मीडिया में सरकार के अधिकारी जो बताते हैं वह आधा सच होता है। शेष सच को बताने की जिम्‍मेदारी पत्रकार की होती है। उन्‍होंने युवा पत्रकारों को प्रेरित किया कि वे न्‍यू मीडिया में काम करें और उसका स्‍तर भाषा और कंटेंट से बढ़ाएं क्‍योंकि जितना ज्‍यादा यह माध्‍यम सफल होगा उतना ज्‍यादा ही लोगों के लिए सदुपयोगी होगा। विद्यार्थियों को मीडिया के काम करने के मंत्र बताते हुए उन्‍होंने कहा कि हर खबर की सत्‍यता की जांच करना चाहिए।

          सत्र का संचालन मीडिया प्रबंधन विभाग के अध्‍यक्ष डॉ अविनाश वाजपेयी ने किया। डॉ मनीष माहेश्‍वरी ने श्री अग्रवाल का सम्‍मान किया।