MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

मन को संयमित करना ही सफल होना है श्री रायकवार

साकारात्‍मक विचार से वैयक्तिक विकास को बढावा

व्‍यक्ति  जैसा सोचेंगावैसा ही बनेगा

एमसीयू में मीडिया प्रबंधन विभाग का आयोजन

भोपाल, 2 अगस्‍त 2017: इंसान पहले आदत बनाता है और बाद में उसी आदत से इंसान संचालित होने लगता है। इंसान अपने आदत से बनता और बिगड़ता है। इंसान का मन हमेशा विचलित होता है, लेकिन उसको जो संयमित कर लेता है वह अपने जीवन में सभी अहम कार्य कर लेता है। इंसान जैसा विचार करता है वैसा बनता है। हमेशा हर चिज को सेलिब्रेट करना चाहिए। इसलिए हमे साकारात्‍मक विचार को बढावा देना चाहिए। साकारात्‍मक विचार से व्‍यक्तिगत और सामाजिक स्‍तर पर विकास को बढावा मिलता है। यह विचार इंदौर से आए मोटिवेश्‍नल स्‍पीकर एवं कॉरियर काउंसलर चेतन रायकवार ने विद्यार्थियों से व्‍यक्‍त किए।

चेतन रायकवार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं  संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में मीडिया प्रबंधन विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय सत्रारंभ कार्यक्रम के पहले दिन पहले सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने विद्यार्थियों को माइंड मैनेजमेंट विषय पर मार्गदर्शन किया। इस सत्र की अध्यक्ष्ता मीडिया प्रबंधन विभाग की सहायक प्राध्‍यापक सुश्री मनीषा वर्मा और संचालन प्रबंधन विभाग की छात्रा निकिता दुबे ने किया।

इसके पहले कार्यक्रम के पहले दिन का शुभारंभ मीडिया प्रबंधन विभाग के विभागाध्‍यक्ष डॉ. अविनाश वाजपेयी और विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के विभगाध्‍यक्ष प्रो. पवित्र श्रीवास्‍तव ने आगत अतिथियों के साथ संयुक्‍त रूप से दीप प्रज्‍जवलित कर किया। इस मौके पर डॉ अविनाश वाजपेयी  ने प्रथम वर्ष में आये विद्यार्थियों का स्वागत किया।

दूसरे सत्र में वक्‍ता के रूप में सुप्रसिद्ध रेडियों कार्यक्रम की प्रस्‍तोता श्रीमती जया आर्य ने आवाज़ की ताक़त और अहिमयत को विद्यार्थियों के साझा किया। उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत ॐ के उच्चारण से की। श्रीमती आर्या ने कहा कि ॐ के उच्चारण से आवाज़ और मन में निखार आता है। आवाज़ को दमदार बनाने के लिए वोकल कार्ड का एक्‍टीव रखना आवश्यक है। उन्‍होंने विद्यार्थियों से चार्ली चौपलिन और  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अन्‍य व्‍यक्तियों के आवाज़ और उसके प्रभाव के बारे में चर्चा की। इस सत्र की अध्यक्ष्ता मीडिया प्रबंधन विभाग के अध्‍यापक अमरेंद्र आर्य और मंच संचालन प्रबंधन विभाग की छात्रा अंजलि गुप्ता ने किया। 

तीसरे सत्र में पेशे से डॉक्टर और एक्‍टर डॉ सुमित राणा ने विद्यार्थीओ से एंटरटेनमेंट एवं करियर विषय पर अपनी बात रखी। उन्होंने अपने अनुभव को विद्यार्थियों से साँझा करते हुए बताया कि एंटरटेंनमेंट के क्षेत्र में कॉरियर बनाने वाले विद्यार्थियों का विलपावर मजबूत हेाना चाहिए। सिनेमा जगत में स्टारडम तक पहुंचने से पहले होने वाली परेशानियों के बारे में विस्‍तार से चर्चा की। उन्‍होंने बताया कि सिने जगत केवल प्रबंधन के सहारे कार्य करता है। अगर आप अपने कार्य को समय पर पुरा नहीं करते है तो परेशानियों का सामना करना पड़ता है। डॉ. सुमित ने थियेटर और सिनेमा के अंतसंबंध पर भी विस्‍तार से चर्चा की।  इस सत्र की अध्यक्षता श्रीमती संगीता जैन और संचालन प्रबंधन विभाग के छात्र लकी चौधरी ने किया।

इस मौके पर प्रोफेसर कंचन भाटिया, डॉ मणिकंठन नायर के साथ मीडिया प्रबंधन विभाग और विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के सभी विद्यारर्थी उपसिथ्‍त थे। इस विभागीय सत्रारंभ के दूसरे दिन चार सत्र आयोजित होंगे।