MC University

  About University
icon About University
icon From VC's Desk
  Governing Bodies
icon Management Council
   
 

चुनौतीपूर्ण है टीवी रिर्पोटिंगः बृजेश राजपूत

अपनी नई किताब आफ द स्क्रीन’ पर की बातचीत

भोपाल,11 अगस्त, 2018: वरिष्ठ टीवी पत्रकार बृजेश राजपूत का कहना है कि टीवी रिर्पोटिंग एक चुनौतीपूर्ण कार्य है और इसमें रिर्पोटर को हमेशा सजग और चैतन्य रहना पड़ता है। वे आज यहां माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के जनसंचार विभाग में विद्यार्थियों से संवाद कर रहे थे।

उन्होंने अपनी नई किताब ‘आफ द स्क्रीन’ पर चर्चा करते हुए विद्यार्थियों से टीवी रिर्पोटिंग के कौशल पर बातचीत की। श्री राजपूत ने कहा कि उनकी इस किताब में टीवी रिर्पोटिंग की कहानियां हैं, जिनमें एक रिर्पोटर के जमीनी अनुभव हैं। उन्होंने कहा कि टीवी रिर्पोटिंग एक अलग किस्म की पत्रकारिता है, जिसमें कैमरा, माइक, विजुअल, बाइट और पीटीसी को जोड़कर कैमरामैन और ड्राइवर की मदद से स्टोरी तैयार होती है। इसमें रोज कुछ सीखते हैं, कुछ भूलते हैं और गलतियां करते हैं। उनका कहना था कि टीवी में विजुअल्स के सहारे कहानी कहने का यह तरीका देखने में जितना आसान होता है, रिर्पोटिंग करने वाले के लिए उतना ही कठिन होता है। श्री राजपूत ने कहा कि रोज बदलती दुनिया, बदलते मीडिया और तकनीक के बढ़ते प्रयोगों ने इस काम को ज्यादा चुनौतीपूर्ण बना दिया है। इसके साथ ही टीवी रिर्पोटिंग बड़ी मेहनत और जान को जोखिम में डालने जैसे अनुभव भी कराती है। उन्होंने इस अवसर पर विद्यार्थियों के सवालों के जवाब भी दिए और कहा कि असली पत्रकारिता तो दरअसल रिर्पोटरों की होती है, जमीनी अनुभवों से लैस होते हैं। इसके पूर्व जनसंचार विभाग के अध्यक्ष और विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. संजय द्विवेदी ने श्री राजपूत का स्वागत किया। इस अवसर विभाग के समन्वयक डा. संजीव गुप्ता, प्राध्यापकगण सुरेंद्र पाल, साकेत दुबे और बबिता रानी घोष और छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।